barmer

भारत-पाक सीमा पर बसे सरहदी बाड़मेर में विवाहिता के साथ पति और देवर ने ही हैवानियत की, पीड़िता का कसूर बस इतना था कि वो मां नहीं बन पा रही थी।

राजस्थान के सरहदी इलाके बाड़मेर जिले के चौहटन थाना इलाके के एक गांव में विवाहित अपने पति तथा देवर की हैवानियत की शिकार हुई, पति और देवर ने मिलकर उसके प्राइवेट पार्ट में चाकू घोंप दिया, पीड़िता ने एसपी को ज्ञापन सौंप पति तथा देवर के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गुहार लगाई है। विवाहिता महिला का आरोप है कि शादी के बाद उसे संतान नहीं हो पा रहा था, जिसकी वजह से उसके पति और देवर ने उसके प्राइवेट पार्ट में चाकू डालकर उसे चीर दिया, पुलिस ने तुरंत पीड़िता का मेडिकल करवाकर जांच शुरु कर दी है।

संतान नहीं
भारत-पाक सीमा पर बसे सरहदी बाड़मेर में विवाहिता के साथ पति और देवर ने ही हैवानियत की, पीड़िता का कसूर बस इतना था कि वो मां नहीं बन पा रही थी, जिसकी वजह से ससुराल पक्ष के लोग देवर के साथ शारीरिक संबंध बनाने को लेकर भी दबाव बना रहे थे, संतान नहीं होने की वजह से ससुराल वाले दहेज के लिये भी महिला को प्रताड़ित करते रहते थे।

6 साल से बच्चा नहीं
रिपोर्ट के मुताबिक चाड़ी निवासी पीड़िता की शादी चौहटन के उपरला गांव में करीब 6 साल पहले हुई थी, शादी के बाद से ही ससुराल वाले दहेज की मांग को लेकर प्रताड़ित करते रहते थे, शादी को करीब 5 साल बीत जाने के बाद भी विवाहित को कोई संतान नहीं हुई, तो उसके पति भभूताराम ने अपने छोटे भाई रामजीवन के साथ शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाया, पीडिता ने विरोध किया, तो देवर रामजीवन ने उसके साथ दुष्कर्म किया, इतना ही नहीं विवाहित के देवर और उसके पति ने चाकू से उनके प्राइवेट पार्ट को भी चीर दिया।

कार्रवाई की मांग
एसपी ऑफिस पहुंचकर पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाई है, जिसके बाद एसपी आनंद शर्मा ने मामले में जांच के आदेश दिये हैं, साथ ही पीड़िता का मेडिकल करवाने का भी निर्देश दिया है। couple एसपी ने कहा कि पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसके पति और देवर ने प्राइवेट पार्ट में चाकी से वार किया है, पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत ही महिला थाना में मामला दर्ज कर मेडिकल करवाने के निर्देश दिये हैं, बाड़मेर पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

Read Also – पति पत्नी के साथ निजी पलों का वीडियो बनाकर जीजा को भेजता था, दोहरे केस में पुलिस भी उलझी