क्या दूध और पालक साथ में खाने से हो सकता है नुकसानदायक? जान लीजिए सच और झूठ

0
39

ऐसा कहा जाता है कि पालक में दूध और ऑक्सालिक एसिड में मौजूद कैल्शियम का संयोजन कैल्शियम ऑक्सालेट क्रिस्टल का निर्माण कर सकता है।

दूध और पालक का कॉम्बिनेशन किसी को भी अजीब लग सकता है, दरअसल हमारे देश में एक ये सोच है कि पालक या किसी भी पत्तेदार सब्जी को दूध या दही वाली चीजों के साथ नहीं खानी चाहिये, इतना ही नहीं दही और कुछ पत्तेदार सब्जियों का कॉम्बिनेशन स्वास्थ्य के लिये कई मायनों में नुकसानदायक भी हो सकता है, आइये आपको बताते हैं इसके पीछे की सच्चाई।

क्यों नहीं खानी चाहिये
ऐसा कहा जाता है कि पालक में दूध और ऑक्सालिक एसिड में मौजूद कैल्शियम का संयोजन कैल्शियम ऑक्सालेट क्रिस्टल का निर्माण कर सकता है, इसे किडनी या मूत्र पथ में रुकावट का कारण हो सकता है, ये सिर्फ पालक और दूध उत्पादों के लिये ही नहीं, बल्कि पत्तेदार सब्जियों और दूध वाली चीजों के साथ होता है, आइये आपको दोनों के गुण-अवगुण के बारे में आपको बताते हैं।

पालक
पालक के पोषक तत्व का प्रोफाइल देखें, तो ये हर तरह से स्वास्थ्य के लिये फायदेमंद है, हालांकि आप इस तथ्य से अवगत नहीं हो सकते, कि भले ही पालक कैल्सियम से समृद्ध है, लेकिन ये शरीर द्वारा अच्छी तरह से अवशोषित हो जाता है, एंटी न्यूट्रिएंट ऑक्सालिक एसिड शरीर द्वारा 95 फीसदी कैल्शियम को अवशोषित होने से रोकता है।

दूध
दूसरी ओर दूध है, जिसमें कैल्शियम की अच्छी मात्रा पायी जाती है, 1 लीटर दूध में 1100 एमजी से 1300 एमजी तक कैल्शियम पाया जाता है, कैल्शियम हमारे हड्डियों, मसल कंट्रेक्शन, हार्मोन सीक्रेट और सेंट्रल नर्वस सिस्टम को ठीक रखने में मदद करते हैं।

क्या दूध -पालक साथ खाना हानिकारक है
आपको बता दें कि ये मिथक के अलावा कुछ भी नहीं है, तथ्य ये है कि डायटरी ऑक्सालेट के कण ऑक्सलेट के कणों को बनाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, लेकिन उच्च ऑक्सालिक एसिड वाले खाद्य पदार्थों के साथ उच्चा कैल्शियम खाद्य पदार्थों का सेवन करने से वास्तव में गुर्दे की पथरी के गठन का खतरा कम हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here