green peas benefits

सर्दियां में सब्जियों के बहुत सारे ऑप्शन होते हैं और इन्हीं सब्जियों में से एक है मटर. जिसका स्वाद सर्दी के मौसम में और भी बढ़ जाता है. मटर जितना खाने में स्वादिष्ट होती है उतनी ही पोषक तत्वों से भरपूर भी होती है. मटर में विटामिन A, B-1, B-6, C और K भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसी कारण मटर को विटामिन का बैंक भी कहा जाता है. इसमें कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है और फाइबर, प्रोटीन, मैंगनीज, आयरन और फोलेट भरपूर मात्रा में होता है. मटर एक ऐसी सब्जी है जिसे लोग पकाकर भी खाते हैं और कच्चा खाना भी पसंद करते हैं. तो आइए जानते हैं सर्दियों में मटर खाने के 6 बड़े फायदे.

मटर खाने के फायदे
वजन
सर्दियों में भरपूर मात्रा में मिलने वाली मटर को सबसे अच्छा वेट लॉस भी माना गया है. इसकी खासियत ये है कि, इसके सेवन के बाद काफी देर तक भूख नहीं लगती क्योंकि इसमें फाइबर और प्रोटीन होता है. इसी कारण वजन कंट्रोल करने में मदद होती है.
दिल की बीमारी
मटर में मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है और इसका सेवन दिल को स्वस्थ रखता है. इसी के साथ मटर का सेवन हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से भी बचाता है और शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है.

पाचन
मटर फाइबर से भरपूर होती है और इसी कारण इसका सेवन पाचन तंत्र के लिए अच्छा होता है. मटर खाने से शरीर में अच्छे बैक्टीरिया बढ़ने लगते हैं और आंत सही तरीके से काम करने लगती हैं और कब्ज की समस्या भी नहीं होती.
डायबिटीज
अधिकतर लोगों को डायबिटीज की परेशानी होती है और ऐसे लोगों को शुगर कंट्रोल करने के लिए काफी संभलकर चीजें खानी पड़ती हैं. लेकिन मटर में मौजूद ग्लाइसेमिक diabetes-control इंडेक्स ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है और प्रोटीन व फाइबर ब्लड शुगर को बढ़ने नहीं देता. इसी के साथ इसमें मौजूद विटामिन B A, K और C लोगों को शुगर के खतरे से बचाने में मदद करता है.

हड्डियां
भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने खाने-पीने का ठीक तरह से ख्याल नहीं रख पाते और इस कारण हड्डियां कमजोर होने लगती हैं. मटर में मौजूद विटामिन K शरीर को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या से बचाता है. इसके अलावा एक कप उबली हुई मटर में विटामिन K-1 का 46 फीसदी RDA होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक होता है.
स्किन
मटर का नियमित रूप से सेवन करने से स्किन बेदाग और चमकदार बनती है. इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड्स, कैटेचिन, एपिक्टिन, कारोटेनोइड और अल्फा-कैरोटीन स्किन पर बढ़ती how to strong bones उम्र के संकेतों को रोकने में मदद करता है.

Read Also: सर्दी-जुकाम ही नहीं इन 4 समस्याओं का रामबाण इलाज है लौंग, इस्तेमाल का जानें सही तरीका