दुर्गापूजा पंडाल में सोनू सूद ने अपनी मूर्ति देख कही बड़ी बात, वायरल हो रहा ट्वीट!

0
226

रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रफुल्ला कन्नन वेलफेयर एसोसिएशन नाम की पूजा समिति ने जो पंडाल इस साल तैयार किया है, वह प्रवासी मजदूर के थीम पर बेस्ड है।

कोरोना महामारी की वजह से देशभर में हुए लॉकडाउन से लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा, इस दौरान सबसे ज्यादा समस्याएं प्रवासी मजदूरों को हुई, जो अपने गांव घर से दूर दूसरे शहरों में रोजी-रोटी की तलाश में गये थे, डेली बेसिस पर काम करने वाले ऐसे मजदूरों की लॉकडाउन होने के कारण आर्थिक स्थिति बिगड़ने लगी, वो पैदल ही एक हजार-पंद्रह सौ किमी का सफर तय कर अपने-अपने गांव वापस लौटने लगे, ऐसे में बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद से उन मजदूरों का दर्द देखा नहीं दया, जिस तरह से उन्होने मजदूरों को घर पहुंचाने में मदद की थी, उसकी खूब सराहना हुई थी।

अब भी कर रहे मदद
बात सिर्फ यही खत्म नहीं हो जाती, खास बात ये है कि सोनू सूद अभी भी लोगों की मदद कर रहे हैं, ट्विटर के जरिये जो भी सोनू से मदद मांगता है, वो उनकी मदद करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं, ऐसे में कई लोग सोनू को भगवान का दर्जा देने लगे।

दुर्गापूजा पंडाल में जगह
न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक दुर्गा पूजा के पावन मौके पर कोलकाता में एक दुर्गापूजा समिति ने अपने पूजा पंडाल में सोनू सूद की मूर्ति लगाई है, उन्हें भगवान का दर्जा दिया है, sonu-sood-corona-help इस पर सोनू ने एक ट्वीट के जरिये आभार जाहिर करते हुए कहा है कि ये उनका अब तक का सबसे बड़ा अवॉर्ड है।

कोलकाता में पंडाल
रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रफुल्ला कन्नन वेलफेयर एसोसिएशन नाम की पूजा समिति ने जो पंडाल इस साल तैयार किया है, वह प्रवासी मजदूर के थीम पर बेस्ड है, इस दौरान उन्होने प्रवासी मजदूरों की मदद करने के लिये सोनू सूद को सम्मान दिया है, उनकी एक मूर्ति भी पंडाल में लगाई है, इस पूजा समिति के सदस्य सृंजय दत्ता ने कहा कि समिति ने सोनू सूद की मूर्ति इसलिये लगवाई है, ताकि लोग उनसे जरुरतमंद लोगों की मदद करने के लिये प्रेरणा ले सकें।

Read Also – कभी चुनाव नहीं हारे हैं अमित शाह, ऐसे तय किया एक मामूली कार्यकर्ता से गृह मंत्री तक का सफर!