नेपोटिज्म की बहस में सोफिया हयात की एंट्री, कुछ लोग शारीरिक समझौता चाहते थे

0
67
sofia hayat

सोफिया हयात ने कहा कि उनकी बात नहीं मानने पर मेरा काम दूसरी लड़कियों को दिया जाने लगा, फिल्म में मेरे सीन्स को कट कर दिये गये, कुछ फिल्में रोक दी गई।

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की अचानक मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है, उन्होने सिर्फ 34 साल की उम्र में इस दुनिया से विदा लेने का फैसला कर लिया, कोई इसे डिप्रेशन से जोड़ रहा है, तो कोई फिल्म इंडस्ट्री में वंशवाद को इसका कारण बता रहा है, अब बिग बॉस-7 की कंटेस्टेंट रही सोफिया हयात ने वंशवाद को लेकर अपना अनुभव साझा किया है।

लंबे समय से वंशवाद
स्पॉटब्वॉय से बात करती हुई सोफिया ने कहा कि बॉलीवुड में वंशवाद लंबे समय से है, विदेशी होने के नाते उन्होने भी परेशानी को झेली, बॉलीवुड के कई बड़े फिल्ममेकर्स ने मुझे काम करने के लिये इंवाइट किया था, फिल्म डायरी ऑफ अ बटरफ्लाई में मुझे कास्ट भी किया गया, लेकिन जल्द ही कई बड़े फिल्ममेकर्स और एक्टर्स ने मुझ पर चांस मारने की कोशिश की, वो शारीरिक समझौता चाहते थे, मैंने कभी उन्हें खुद को हाथ तक लगाने नहीं दिया, लगातार निमंत्रण के बाद भी वर्किंग ऑवर्स के बाद मैं किसी से मिलने नहीं गई।

मुझे खरीदने-बेचने की कोशिश
सोफिया ने कहा कि उनकी बात नहीं मानने पर मेरा काम दूसरी लड़कियों को दिया जाने लगा, फिल्म में मेरे सीन्स को कट कर दिये गये, कुछ फिल्में रोक दी गई, वो हर बार मुझे खरीदने या बेचने की कोशिश करते रहे, इसके बाद मैंने अपने देश वापस लौटना बेहतर समझा, मैं नेपोटिज्म का शिकार नहीं बनना चाहती थी।

बिग बॉस पर क्या बोली
मॉडल ने कहा कि उन्हें बतौर वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट बिग बॉस में एंट्री मिली थी, ये शो उनके लिये बड़ा प्लेटफॉर्म था, लेकिन उन्हें ऐसा लगा कि उनकी इमेज को नुकसान पहुंचाने के लिये एक प्लान था, बिग बॉस में उनके हिस्से को इस तरह से एडिट करवाया गया कि लोग कभी भी उनका रियल साइड देख ही नहीं पाये।

Read Also – बॉलीवुड में वंशवाद पर अभिषेक बच्चन ने तोड़ी चुप्पी, कही ऐसी बात