एक और बड़े धमाके के लिये तैयार मुकेश अंबानी, खुलेंगे जियो के 4100 पेट्रोल पंप, इतने लोगों को मिलेगा रोजगार

0
1589
petrol

जियो बीपी ब्रांड नाम से कारोबार करने वाले इस ज्वाइंट वेंचर का लक्ष्य भारत के फ्यूल तथा मोबिलिटी बाजार में एक प्रमुख कंपनी बनने का है।

दिग्गज एनर्जी कंपनी बीपी पीएलसी तथा आरआईएल ने इस महीने की शुरुआत में अपने फ्यूल रिटेल ज्वाइंट वेंचर के शुरुआत का ऐलान किया था, बीपी ने पिछले साल ही रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के फ्यूल रिटेलिंग कारोबार में 49 फीसदी हिस्सेदारी एक अरब डॉलर में खरीदी थी, वर्तमान में देशभर में रिलायंस के 1400 पेट्रोल पंप तथा 31 एविएशन टर्बाइन फ्यूल स्टेशन है।

नई तैयारी में रिलायंस
इस नये ज्वाइंट वेंचर में 51 फीसदी हिस्सेदारी मुकेश अंबानी की रिलायंस के पास है, दोनों कंपनियों ने एक संयुक्त बयान में कहा कि 2019 में हुए समझौते के तहत बीपी तथा आरआईएल के अधिकारी इस चुनौतीपूर्ण स्थिति में भी पिछले कुछ महीनों से इस सौदे का पूरा करने के लिये कड़ी मेहनत कर रहे थे, नये वेंचर का नाम रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड होगा।

बाजार में धाक जमाना लक्ष्य
जियो बीपी ब्रांड नाम से कारोबार करने वाले इस ज्वाइंट वेंचर का लक्ष्य भारत के फ्यूल तथा मोबिलिटी बाजार में एक प्रमुख कंपनी बनने का है, petrol__diesel_price आरबीएमएल को ट्रांसपोर्टेशन फ्यूल की मार्केटिंग के लिये सभी जरुरी मंजरियां तथा लाइसेंस मिल चुकी है, ज्वाइंट वेंचर अपने मौजूदा रिटेल आउटलेट्स के माध्यम से फ्यूल्स तथा कैस्ट्रॉल लुब्रीकेंट्स की बिक्री शुरु करेगा, इसके अलावा इन सभी आउटलेट्स को जियो बीपी ब्रांड नाम से दोबारा तैयार किया जाएगा।

बाजार पर सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों का कब्जा
आपको बता दें कि भारत के ऑटो फ्यूल रिटेल मार्केट पर वर्तमान में सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों का एकाधिकार है, देश में 69392 पेट्रोल पंपों में अधिकांशतः सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां है, सार्वजनिक क्षेत्र की आईओसी, बीपीसीएल तथा एचपीसीएल के पेट्रोल पंपों की संख्या 62072 है, 256 एविशएश फ्यूल स्टेशन में से 224 सार्वजनिक कंपनियों के हैं।

Read Also – पिछले 20 दिनों में इतनी बढी मुकेश अंबानी संपत्ति, टॉप टेन में लंबी छलांग, जानिये नेटवर्थ