gold price1

जब किसी ऐसेट, कमोडिटी या सिक्योरिटीज की कीमत अपने रिकॉर्ड हाई से 20 फीसदी तक या उससे ज्यादा गिर जाती है और ये गिरावट दो महीने से ज्यादा रहती है, तो उसे बीयर मार्केट कहा जाता है।

अगर आप सोने की खरीददारी करने की सोच रहे हैं, तो फिर ये आपके लिये अच्छी खबर है, वैसे तो सोने की कीमतों में हाल के दिनों में गिरावट दर्ज किया गया है, लेकिन एक्सपर्ट के मुताबिक आने वाले समय में और गिरावट देखी जा सकती है, विशेषज्ञ भाव में और नरमी की उम्मीद जता रहे हैं, ऐसा इसलिये क्योंकि अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में बढोतरी हुई है, साथ ही मजबूत डॉलर के कारण सोना बीयर मार्केट में प्रवेश कर चुका है, गोल्ड ईटीएफ में सोने पर लगातार बिकवाली का दबाव बना हुआ है, क्योंकि सोने में अपवार्ड मोमेंटम दिख ही नहीं रहा है।

क्या होता है बीयर मार्केट
जब किसी ऐसेट, कमोडिटी या सिक्योरिटीज की कीमत अपने रिकॉर्ड हाई से 20 फीसदी तक या उससे ज्यादा गिर जाती है और ये गिरावट दो महीने से ज्यादा रहती है, तो उसे बीयर मार्केट कहा जाता है, gold2 वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर पीआर सोमासुंदरम ने बताया कि बॉन्ड यील्ड बढने और सोने की कीमतों में गिरावट के कारण फरवरी में गोल्ड ईटीएफ की होल्डिंग 2 फीसदी कम हुई है।

क्या है कीमत में गिरावट की वजह
पीआर सोमासुंदरम ने बताया कि इस दौरान ग्लोबल गोल्ड ईटीएफ की होल्डिंग में 84.7 टन सोने की गिरावट आई है, उन्होने कहा कि ये अब तक के इतिहास में सातवां सबसे बड़ा मंथली लॉस है, दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड आधारित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग 21 दिसंबर 2020 को अपने लाइफटाइम हाई 1,278.82 तक पहुंच गई थी, जिसमें 4 मार्च 2021 तक 200.5 टन यानी 15 फीसदी की गिरावट आई है।

कितना सस्ता हो सकता है सोना
एक्सपर्ट के अनुसार एमसीएक्स पर सोना 43,800 रुपये से 44,000 के बीच ट्रेड करने की संभावना है, उन्होने कहा कि बॉन्ड यील्ड में अगर ऐसे ही बढोतरी जारी रही, तो सोने की कीमतें 41,500 रुपये प्रति 10 ग्राम तक गिर सकती है।

Read Also – Gold Rate Today- सोने के दाम में भारी गिरावट, पिछले 10 महीने के सबसे निचले स्तर पर!